चालक लोमड़ी – Clever fox | Motivational story in hindi

चालक लोमड़ी – Panchatantra story for kids

चंदा सुदर वन की सबसे सुन्दर लोमड़ी थी वह जंगल के हर झगडे का फैसला इस होशियारी से करती थी कि जंगल के हर जानवर अपने झगड़े सुलझाने उडी के पास आते थे |उसी जंगल में अकडू एवं भेरू नाम के दो सियार भी रहते थे |

चंदा उन्हें एक आँख नहीं भातिं थी , वो हमेशा उसे ख़त्म करने में लगे रहते थे | एक बार अकडू, भेरू से बोला – भेरू चंदा को ख़त्म करने की हमने कितनी कोशिश की , मगर हमें हमेशा असफलता ही हाथ लगी |

-अकडू तू चिंता मत कर अब चंदा नहीं बचेगी |

-वो कैसे ?

-अकडू इस बार चंदा की दुश्मनी शेरखान से होगी |

-भेरू , मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा है

You may also like: Latest love shayari in hindi

तू समझ कर करेगा भी क्या | ( दोनों शेरखान के पास जाते है | शेरखान के पास पहुँचते ही भेरू जोर-जोर से रोने लगता है | )

महाराज-महाराज मेरा क्या होगा | महाराज मैं तो यह जंगल छोड़कर दूसरें जंगल मैं चला जाऊँगा|

क्यों क्या बात हैं , जो आज तुम दोनों मेरे पास आते ही रोंने लगे ?

महाराज जिस जंगल में चंदा लोमड़ी रहती हो , वहाँ कौन रहेगा |

क्यों क्या किया है चंदा ने ?

महाराज चंदा इस जंगल में राज करना चाहती है , वह आपको हटाना चाहती है |

महाराज वो सारे जानवरों के झगड़े सुलझती है | सारा जंगल उससे पूछकर नया काम चालु करता है | महाराज जिस जंगल का राजा शेर नहीं , वहाँ पर हम भी नहीं रहेंगे |

अच्छा तो यह बात है , मैं अभी देखता हूँ  उस घमंडी लोमड़ी को आज बता देता हूँ की जंगल पर किसका राज है |

यह कहकर शेरखान वहाँ से चल दिया | अकडू और भेरू दोनों मन ही मन खुश हुए | वही बैठकर शेरखान का रास्ता देखने लगे | वहाँ उन्हें चंदा आती हुई दिखी , उसे देखकर खुश होकर बोले-  ‘नमस्ते चंदाजी , आप कहाँ जा रही है , आपको जंगल का राजा शेरखान ढूंढ रहा है | ‘

यह भी पढ़ें – HARIVANSH RAI BACHCHAN POEMS

उन दोनों की मीठी बात सुनकर चंदा ने सोचा की इस बार इन्होंने मुझे मारने के लिए शेरखान को राजी किया है , उसने एक उपाय सोचा |

उसने सभी जानवरों से यह कहना चालू कर दिया कि अकडू और भेरू ने कहा है कि वह शेरखान को मुझसे मरवा कर मुझें जंगल का राज सौंप देंगे , लेकिन मैंने मना कर दिया | यह एक से दुसरे के पास होती हुई शेरखान तक पहुंची , शेरखान ने फिर चंदा से पूछा , चंदा तुम्हे अकडू और भेरू ने जो कहा है वह सच है ?

चंदा के हाँ कहते ही शेरखान आग बबूला हो गया और उसने जाते ही अकडू और भेरू को मार डाला और चंदा लोमड़ी फिर जीत गई |

‍शिक्षा : किसी पर जल्दी विश्वास नहीं करना चाहिए और मुसीबत में हमेशा धेर्य से काम लेना चाहिए।

अगर आपको ये hindi kahani पसंद आई हो तो शेयर और कमेंट जरूर करें।

Read more: Best panchatantra stories in hindi

Must Read

बुद्धिमान राहगीर – Buddhimaan raahageer | Bachho ki hindi kahaniya

बुद्धिमान राहगीर - Panchatantra stories in Hindi एक दिन एक सौदागर अपने ऊँट पर सामन लाद कर शहर में बेचने चला | उसका ऊँट बुढा...

चालक लोमड़ी – Clever fox | Motivational story in hindi

चालक लोमड़ी - Panchatantra story for kids चंदा सुदर वन की सबसे सुन्दर लोमड़ी थी वह जंगल के हर झगडे का फैसला इस होशियारी से...

10 Best Love Shayari in Hindi for Your Love

10 Best Love Shayari ever in Hindi to express your feelings, you are at the right place if you want to read Shayari. Here...

Lakdi ki kathi | लकड़ी की काठी – Hindi poems for kids

Lakdi ki kathi | लकड़ी की काठी - Rhymes in hindi Lakdi Ki Kathi Kathi Pe Ghoda (लकड़ी की काठी) फिल्म मासूम से बहुत प्रसिद्ध...

Nani Teri Morni Ko Mor Le Gaye | नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए – Hindi poem for kids

Nani Teri Morni Ko Mor Le Gaye | नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए बाकी जो बचा था...

Related Articles

The monkey and the Crocodile – एक बंदर और मगरमच्छ | Panchatantra ki kahani

The monkey and the Crocodile - एक बंदर और मगरमच्छ - Panchatantra stories in Hindi एक नदी के किनारेएक जामुन के पेड़ परएक बन्दर रहता...

अच्छे बच्चे – Hindi poem for kids | Hindi poems

अच्छे बच्चे - Hindi poem for kids | Hindi poems हम बच्चे अच्छे स्कूल के, पक्के अपने हैं असूल के। हिल-मिलकर सब संग में पढ़ते हैं, दूरी रखते...

नील परी – Neel Pari | Hindi poems – Hindi poems for kids

नील परी  | Hindi poems - Hindi poems for kidsआसमान से हँसती-गातीनील परी भू पर आती है,आकर के नन्ही बगिया कोखुशबू से यह भर...

बुद्धिमान राहगीर – Buddhimaan raahageer | Bachho ki hindi kahaniya

बुद्धिमान राहगीर - Panchatantra stories in Hindi एक दिन एक सौदागर अपने ऊँट पर सामन लाद कर शहर में बेचने चला | उसका ऊँट बुढा...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here